रेडियम क्यों चमकता है?


Why-does-radium-shine

  • रेडियम की खोज मैडम मैरी क्यूरी और पिअर क्यूरी ने की थी।
  • “रेडियम” नाम लैटिन शब्द “रेडियस” से आया है, जिसका अर्थ है किरण।
  • रेडियम एक चमकने वाली रेडियोधर्मी धातु है।
  • रेडियोधर्मी का मतलब होता है कि इसका नाभिकीय केंद्र काफी अस्थिर होता है और बहुत तेजी से यह तत्व टूटता है। टूटने के क्रम में यह कई किरणें छोड़ता है और इससे एक चमक निकलती है।
  • रेडियम का अणु विकिरण करता है और किरणें अल्फा, बीटा और गामा किरणों के रूप में निकलती हैं, जो बेहद खतरनाक हैं। यह यूरेनियम के अयस्क से प्राप्त होता है।
  • जब यूरेनियम का शुद्धिकरण किया जाता है तो उसके बाईप्रोडक्ट के तौर पर रेडियम मिलता है।
  • यह चमकने वाले पेंट, विमान के स्विच, घड़ी के डायल, न्यूक्लियर पैनल, दंतमंजन, बालों की क्रीम आदि में होता था। बाद में स्वास्थ्य पर इसके प्रतिकूल परिणाम सामने आए। इस वजह से इसका उपयोग पेंट, कपड़े, दवाई आदि के निर्माण में बंद कर दिया गया। इसका इस्तेमाल कैंसर के उपचार में भी किया जाता है।

Post a Comment

Previous Post Next Post